Mon - Sat: 10:00AM - 6:30PM

अगर अपने टैलेंट से दुनियाभर में फेमस होना चाहते हैं तो आपके लिए ही बना है ये प्लेटफार्म


आज से 15 साल पहले अगर कोई ऑनलाइन विडियो को शेयर करने की बात करता, तो लोग उस पर हंसते और मजाक उड़ाते।

पर आज ऑनलाइन विडियो अपलोड करना और शेयर करना बहुत ही Normal है... ये सिर्फ और सिर्फ यूट्यूब के आने से सच हुआ है।  

हमारी जिंदंगी का एक हिस्सा

इंटरनेट यूज करने वाला हर इंसान यूट्यूब का इस्तेमाल जरूर करता है, और यूट्यूब सबकी जिंदंगी का एक हिस्सा बन गया है। यूट्यूब के जरिए बड़ी-बड़ी विडियोज को आसानी से अपलोड  किया जा सकता है।

क्या आप जानते हैं कि- दुनिया में गूगल के बाद यूट्यूब सबसे बड़ा सर्च इंजन है।

बनते इतिहास का एक दौर

यूट्यूब को Jawed Karim, Chad Hurley और Steve Chen ने 14 फरवरी 2005 में लाँच किया था और इंडिया में ये प्लेटफार्म 2008 में आया। इस वेबसाइट पर 19 सेकेंड का पहला विडियो 23 अप्रैल 2005 को जावेद करीम ने ही अपलोड किया और अभी भी आपको ये विडियो आसानी से मिल जाएगा। और तो और विडियो अपलोड करने के पांच महीनें बाद ही इस विडियो पर Nike का Advertisement भी आ गया था। नवंबर 2005 और अप्रैल 2006 के बीच यूट्यूब को इनवेस्टर्स भी मिल गए। उस समय यूट्यूब पर हर दिन 8 लाख Views आ रहे थे।ये प्लेटफार्म इस कदर बढ़ा कि हर कोई इसका कायल हो गया था।

2

13 नवंबर 2006 को यूट्यूब को गूगल ने खरीद भी लिया। गूगल के आने के बाद यूट्यूब ने पार्टनर प्रोग्राम की शुरूआत की, जो Adsense पर आधारित था। इसमें कंटेट के आधार पर मिले हुए विज्ञापन पर पैसे मिलने लगे। इसका Ratio कुछ इस तरह हैं कि- 45:55, यानि कमाई के पैसों का 45% यूट्यूब के हिस्से और 55% कंटेट क्रिएटर के हिस्से आता है।

नए-नए तरीकों की शुरूआत-

2010 में यूट्यूब ने Live स्ट्रीमिंग को भी शुरू कर दिया था। इसमें सबसे पहले आईपीएल का प्रसारण किया गया था। 31 मार्च 2010 को यूजर फ्रेंडली बनाने के लिए यूट्यूब ने अपने Interface को भी Change किया था। 2010 तक यूट्यूब पर हर दिन लगभग 200 करोड़ लोग विडियो देखने लगे थे।

पिछले साल 12 से 13 अप्रैल 2019 में BTS (Boys With Luv) का एक विडियो 24 घंटे के दौरान सबसे ज्यादा बार देखा गया था, इस दौरान 74,600,000 view हुआ था।

2015 में जियो की हुई थी लाँचिंग-  

जियो के आने के बाद यूट्यूब पर कंटेंट भी बढ़ गए और यूट्यूब को एक्सेस करने वालों की संख्या भी बढ़ गई। आप यूं कह सकते हैं कि जियो के आने के पहले इंडियन्स यूट्यूब का इस्तेमाल न के बराबर करते थे और अब यूट्यूब के लिए इंडिया एक बड़ा मार्केट बन गया है। 2017 के एक रिपोर्ट में तो दुनियाभर में एक मिनट में 400 घंटे की यूट्यूब विडियो चल रही थी।

एक 2019 के एक रिपोर्ट के मुताबिक इंडिया में यूट्यूब के 26.5 करोड़ एक्टिव यूजर हैं।

3

यूट्यूब प्लेटफार्म के फायदे-

  • आप कटेंट प्रोवाइडर और क्रिएटर दोनों बन सकते हो- इस प्लेटफार्म पर आप कंटेट प्रोवाइड भी कर सकते हैं और खुद का चैनल क्रिएट कर सकते हैं। जैसे- यदि आप कोडिंग करते हो और आप अपने उस कोड को लोगों तक पहुंचाना चाहते हो तो आप अपना चैनल बनाकर कंटेंट लोगों को दे सकते हैं।
  • सबकुछ सीखना हुआ आसान- गूगल की तरह ही यूट्यूब पर भी आप सर्च करके विडियोज को देख सकते हैं। जो चीज आप सीखना चाहते हो उसे यूट्यूब पर सर्च करिए और उसको विडियो फार्मेट पर सीखिए।
  • आप फीडबैक कर सकते हो- यूट्यूब पर आप फीडबैक दे सकते हैं। Interactive तरीके को अपनाने की वजह से यूट्यूब हमारे बीच काफी ज्यादा फेमस हुआ है। हम यह भी कह सकते हैं कि डिजिटल प्लेटफार्म में फीडबैक देना ही हमसे सबसे ज्यादा कनेक्ट करता है।  
  • बिजनेस और कैरियर बनाने का जरिया - आज यूट्यूब के जरिए हम बिजनेस भी कर सकते हैं और अपना  कैरियर भी बना सकते हैं। आपके कंटेंट पर आने वाले advertisement से आप अच्छा खासा पैसा भी कमा सकते हो।
  • अपने हुनर को दिखा सकते हो- आप अपने हुनर को विश्वस्तर पर दिखा सकते हो। यूट्यूब पर अपलोड किया गया आपका कंटेंट आज दुनिया के हर कोने में इंटरनेट का यूज करने वाला व्यक्ति इस्तेमाल कर सकता है। आपको बता दें कि हर पांच साल में 1200+ इंडियन यूट्यूबर्स Youtube पर फेमस हो रहे हैं और उनके subscribers की संख्या 1 मिलियन पार कर रही हैं।

 4

नुकसान -

आज की Young Generation अपने समय को मैनेज नहीं कर पाती और यूट्यूब जैसी टेक्नोलॉजी का इस्तेमाल ही करती रह जाती हैं। यूट्यूब पर सारी जानकारी आसानी से मिल जाने की वजह से अब लोग खुद से सोचने के बजाय सर्च करने लगते हैं। यूट्यूब एक तरीके से Creativity और Innovation को कम कर रहा है। 

By Sonam