Mon - Sat: 10:00AM - 6:30PM

‘Hindustan Unilever’: जिंदंगी के हर कदम में रहे आपके साथ


साबुन, तेल और क्रीम जैसी रोजमर्रा की चीजों को बनाने वाली देश की सबसे बड़ी FMCG कंपनी Hindustan Unilever को हर कोई पहचानता है।

हो सकता है आप इस FMCG Company को नाम से न जानते हों......

मगर आप इस कंपनी के प्रोडेक्ट्स को किसी न किसी रूप में इस्तेमाल जरूर करते हैं। Lifebuoy, Lux, Surf Excel, Fair & Lovely जैसे कई प्रोडेक्ट्स जिनका इस्तेमाल हर व्यक्ति अपने दैनिक जीवन में करता ही रहता है। उसी FMCG कंपनी Hindustan Unilever के बारे में आज हम बात करेंगे। इस समय Hindustan Unilever देश की सबसे बड़ी Fast Moving Consumer Goods (FMCG) Company है।

तो आज हम इसी company के बारे में जानेंगे।

Hindustan Unilever की शुरूआत-

FMCG यानि Fast Moving Consumer Goods की शुरूआत 1888 में ही Lever Brothers Company ने की थी। इसी के बाद Soap Brands लगातार Expand होने लगे और फिर 1895 में Lifebuoy और दूसरे Famous Brands जैसे- Pears, Lux और Vim मार्केट में आ गए।

धीरे-धीरे ये बिजनेस बढ़ने लगा और 1930 में Margarine बनाने वाली कंपनी Margarine Unie और ब्रिटेन की साबुन बनाने वाली कंपनी Lever Brothers के मर्जर से Unilever Limited कंपनी की शुरूआत हुई।

जिसके एक साल बाद यानि 1931 में Lever Brothers ने इंडिया में अपनी पहली Subsidiary Hindustan Vanaspati Manufacturing Company (हिंदुस्तान वानस्पति मैनुफैक्चरिंग कंपनी) बनाई। जिसके बाद Lever Brothers India Limited, United Traders Limited और Vanaspati Manufacturing ने मिलकर 1933 में हिंदुस्तान यूनिलीवर लिमिटेड को शुरू किया। 1956 में इस कंपनी का नाम Hindustan Lever Limited रखा गया और 2007 में कंपनी का नाम फिर से Hindustan Unilever Limited (हिंदुस्तान यूनिलिवर लिमिटेड) कर दिया गया।

जिसके बाद 1937 में इस कंपनी के अंतर्गत Dalda जैसा बड़ा ब्रांड Launch हुआ। ये कंपनी इतनी पुरानी है कि 2019 में इस कंपनी को शुरू हुए 86 साल हो जाएंगे। इस कंपनी के देशभर में कई Outlets लखनऊ, इंदौर, बंगलुरू, दिल्ली, कोलकाता, मुंबई और चेन्नई में हैं।  

कंपनी का फैलाव-

क्या आप जानते हैं कि देश की आधी जनसंख्या यानि करीब 70 करोड़ लोग इस कंपनी के Products का इस्तेमाल करते हैं?

दरअसल इस कंपनी के प्रोडेक्ट इतने Diversified हैं, कि रोजमर्रा की जरूरत का हर सामान इस कंपनी के तहत आता है। वैसे HUL(Hindustan Unilever Limited) कंपनी Indians को 10% Shares ऑफर करती है। HUL का 67.25% स्टेक Unilever कंपनी के पास है और बाकि बचे 22.75% स्टेक करीब 3 लाख Individual Shareholders और Financial Institutions के पास है। इस कंपनी के 35 ब्रांड्स हैं जो Soap, Detergent, Shampoo, Toothpaste, Deodorant etc से जुड़े Products बनाते हैं।

hulxinfo

फिलहाल इस कंपनी में लगभग 18,000 Employees हैं और FY18-19 में कंपनी की टोटल सेल 37,660 करोड़ रुपये की हुई थी। ये कंपनी Worldwide काफी फेमस है और इस समय 190 से भी ज्यादा देशों में स्थापित है। फिलहाल ये कंपनी 4 Main Divisions - Food, Refreshment, Home Care and Beauty & Personal Care से जुड़े प्रोडेक्ट्स बना रही है। इस कंपनी की Research & Development Units- यूके, नीदरलैंड, चाइना, इंडिया और यूनाईटेड स्टेट्स में है।

जुड़ता गया कंपनियों का कारवां-

जब इंडिया गुलाम था और हम पर Britishers राज कर रहे थे, तब इस कंपनी का इजाद हुआ था। उसी दौरान 1903 में कंपनी ने इंडिया में Red Label Tea को Launch किया, जिसके बाद Unilever Company चाय का बिजनेस भी करने लगी। वैसे Brooke Bond कंपनी इंडिया में 1900 से ही काम कर रही थी। 1912 में उस समय का फेमस Brooke Bond Brand भी Unilever Company से जुड़ा। 1972 में इस कंपनी ने Lipton कंपनी को भी खरीद लिया और 1977 में Lipton Tea limited इंडिया में स्थापित हो गई। Pond’s Limited तो इंडिया में 1947 से है, मगर कंपनी 1986 में Unilever Limited से जुड़ गई।

1990 के बाद का समय इस कंपनी के लिए काफी अच्छा रहा, क्योंकि इससे Foods & Beverages भी जुड़े। इस कंपनी की ब्रांड Brooke Bond ने Kothari General Foods को खरीद लिया। 1991 से जब Indian Liberalization की शुरूआत हुई और तो ये कंपनी सबसे ज्यादा बढ़ी। 1992 में HUL कंपनी ने Unilever Nepal Limited नाम से एक Subsidiary कंपनी नेपाल में शुरू की। 1993 में HUL कंपनी ने Kissan Business को खरीदा और इसी साल Tata Oil Mills से भी मर्ज हुई और फिर Tata Company और Lakme Limited ने 50-50% स्टेक के साथ एक ज्वाइंट वेंचर शुरू किया। और तो और 1994 में HUL ने US Based Kimberly Clark Corporation के साथ भी ज्वाइंट वेंचर शुरू किया। 1995 में कंपनी ने Milkfood 100% Icecream को खरीद लिया।

hulproducts

2002 में HUL कंपनी आर्युवेदिक हेल्थ और ब्यूटी सेंटर से भी जुड़ी। 2007 में Brooke Bond और Surf Excel ने 1000 करोड़ के Sales का आंकड़ा और फिर 2008 में Wheel ने 2000 करोड़ का आंकड़ा पार कर लिया था। 2010 को दिल्ली में इस कंपनी ने Sustainable Living Plan लांच किया और 2012 में कंपनी ने Art Learning Centre अधेरी मुंबई में शुरू किया।

HUL का शक्ति प्रोजेक्ट-

HUL का शक्ति प्रोजेक्ट काफी ज्यादा चर्चा में है और इसकी शुरूआत 2001 में की गई थी। इस समय Shakti Project के 1 लाख से ज्यादा Micro Entrepreneurs देश के 18 राज्यों के 100,000 गांवों में काम कर रहे हैं। इस प्रोजेक्ट के तहत कंपनी ग्रामीण महिलाओं में Entrepreneurship Mindset और Financial Independency Develop करती है। ग्रामीण महिलाएं इस कंपनी के प्रोडेक्ट्स को गांव-गांव में बेचतीं हैं, जिन्हें शक्ति अम्मा कहा जाता है। 

hulgraph

देश की और FMCG Companies -

देश में और भी कई FMCG कंपनियां फेमस हैं, जैसे- Colgate-Palmolive, ITC Limited, Nestle, Parle Agro, Britannia Industries Limited.

इस बिजनेस का स्कोप-

Fast Moving Consumer Goods इंडियन इकोनॉमी में चौथा सबसे बड़ा सेक्टर है। इस सेक्टर में Food Processing और Single Brand Investors में इनवेस्टमेंट के लिए Government ने 100% FDI(Foreign Direct Investment) की परमिशन दी है। FMCG में कई ऐसे Products हैं, जिनको आप बिजनेस के आप कम पैसे में भी शुरू कर सकते हैं। जैसे- Bakery, Baking Powder Production, Banana Chips Making, Biscuit Making, Bread Making, Cake & Patties Making, Cheese Production, Ghee Production और Grocery Store.

अगर आप देश की Economy और खुद की Income को बढ़ाना चाहते हैं तो आप इस तरह के बिजनेसेस की शुरूआत कर सकते हैं।

By Sonam